हर क्षेत्र में एजुकेशन आईकन बन चुकी हैं पूनम सागर

0
200

नोएडा। पूनम सागर प्रवक्ता अंग्रेजी, शिक्षक विकास समन्वयक, एजुकेशन लीडर, शिक्षक नेता, विद्यालय पत्रिका के कुशल संपादन का 12 वर्ष का अनुभव लिए हुए, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एजुकेशन इंटरनेशनल, सिंगापुर से प्रशिक्षण प्राप्त, राज्य शिक्षक पुरस्कार से सम्मानित, कोरोना काल में दिल्ली शिक्षा बोर्ड द्वारा संचालित ऑनलाइन क्लासेज, इंग्लिश टीम की सम्मानित सदस्य जिनका सजीव प्रसारण विश्व में सीबीएसई बोर्ड के अंतर्गत आने वाले विभिन्न देशों के विद्यार्थियों द्वारा देखा गया, जिसकी प्रसंशा भारत तथा विश्व के शिक्षाविदों ने आदर्श आनलाईन अध्यापन की नई मिसाल के रूप में की और डायरेक्टरेट ऑफ एजुकेशन ने सम्मानित किया।
ये कवि, गीतकार, गज़लकार, हिन्दी के साथ ही साथ अंग्रेजी में भी कविता लेखन करती हैं। हिंदी कविता को विश्व पटल पर प्रतिष्ठापित करने के लिए अभी हाल में उन्हें पंडित तिलक राज शर्मा स्मृति न्यास, अंतरराष्ट्रीय सम्मान, संयुक्त राष्ट्र अमेरिका से सम्मानित और संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद् और भारत सरकार द्वारा समर्थित भारत गौरव श्री परिषद् द्वारा भारत गौरव श्री सम्मान, 2022, शिक्षा और साहित्य के क्षेत्र में अभूतपूर्व योगदान के लिए प्रदान किया गया। अभी फ़िलहाल शिक्षा के क्षेत्र में इंडिया ब्रांड आइकन अवार्ड, एकेडमिक्स- हिंदी एवं इंग्लिश, 2020-21 के लिए मुंबई में बॉलीवुड अदाकारा, फॉर्मर मिस यूनिवर्स लारा दत्ता से सम्मानित होकर लौटी हैं।
10 सितंबर को उन्हें एजुकेशन आइकन अवार्ड सम्मान समारोह ऑनलाइन में एक वक्ता के रूप में आमंत्रित किया गया था। 19 सितंबर को ताज विवांता दिल्ली में एक शानदार आयोजन में एजुकेशन आइकन अवार्ड – अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए प्रदान किया जाएगा।
वर्ष 2021 — हिन्दी पखवाड़ा के आरंभ से हिन्दी दिवस तक (15 दिनों) के पवित्र पावन अवसर पर आयोजित माॅ भारती कविता महायज्ञ आयोजन की प्रबंध निदेशक के रूप में विश्व के सबसे लंबे अनवरत अविरल लगभग 16 देशों के 500 से अधिक कवियों द्वारा काव्य पाठ का प्रबंध करके विश्व कीर्तिमान स्थापित कर पूनम सागर ने वर्ल्ड बुक आफ रिकार्ड में अपना नाम दर्ज कराया। यह विश्व में किसी भी भाषा में सबसे लंबे कविता पाठ के रिकॉर्ड के रुप में दर्ज़ है।
पूनम सागर जी स्वभाव से शांत,भावुक, मानवतावादी, पर्यावरण संरक्षक, बालिका शिक्षा और नारी सशक्तिकरण की दिशा में प्रयासरत हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here