उपमुख्यमंत्री ने किया बीएसएल 3 लैब का उद्घाटन व मॉडल टीकाकरण केंद्र का लोकार्पण

0
49

Noida: उत्तर प्रदेश सरकार के उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक ने अपने जनपद गौतम बुद्ध नगर भ्रमण के दौरान नोएडा में पहुंचकर पीजीआई चाइल्ड में बीएसएल 3 लैब का उद्घाटन व सेक्टर 39 नोएडा में स्थित जिला संयुक्त चिकित्सालय में नव स्थापित मॉडल टीकाकरण केंद्र का लोकार्पण दीप प्रज्वलित कर किया गया। उन्होंने चाइल्ड पीजीआई के सभा कक्ष में बैठक की अध्यक्षता करते हुए अपने उद्गार व्यक्त करते हुए कहा कि बीएसएल-3 लैब का उपयोग संक्रमण क्षमता वाले रोगजनक सूक्ष्मजीवों के परीक्षण और अनुसंधान के लिए किया जाएगा। सूक्ष्म जीवों के एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलने का खतरा अधिक होता है, जोकि सूक्ष्मजीव गंभीर बीमारियों का कारण बन सकते हैं। इन जीवों पर परीक्षण करते समय उच्च स्तर की सुरक्षा की व्यवस्था की गई है। बीएसएल 3 लैब कर्मियों की सुरक्षा सुनिश्चित करती है और प्रसार के जोखिम को कम करती है। उन्होंने भी बीएसएल 3 प्रयोगशाला की विशेषताओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि यह लैब एक दिशात्मक वायु प्रवाह है, नकारात्मक दबाव प्रयोगशाला में प्रवेश स्वयं बंद होने वाले दरवाजों से होता है, पीपीई का उपयोग अनिवार्य है, हेपा फिल्टर वायु की निकास की व्यवस्था है एवं 100 परसेंट एयर एग्जास्ट बायोसेफ्टी केबिनेट में सैंपलों की हैंडलिंग की जाती है। उन्होंने कहा की अस्पताल की चिकित्सक टीम एवं स्टॉफ सेवा भाव से कार्य करेंगे एवं अपने व्यवहार में रुखापन नहीं लायेंगे, अस्पताल में आने वाले मरीजों के साथ मधुर व्यवहार करें। जिन चिकित्सकों की आवश्यकता है उनकी भर्ती के लिए कार्य करें शासन स्तर से पूरी मदद की जाएगी। जिस विभाग में बच्चों को उच्च कोटि की चिकित्सा व्यवस्था की आवश्यकता है। ऐसा कोई भी बच्चा बीमार हमारे पास नहीं होना चाहिए कि हम कहें कि इस व्यवस्था का हमारे पास चिकित्सक एवं संसाधन उपलब्ध नहीं है। आपने नाम से ही सिद्ध कर दिया कि पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टिट्यूट ऑफ चाइल्ड हेल्थ यानी बच्चों के लिए सर्वोच्च चिकित्सा सुविधा यहां होनी चाहिए, उसके लिए शासन से हर संभव सहयोग उपलब्ध कराया जाएगा। इसके लिए आपको पहल करनी है। सभी विधाओं के चिकित्सक यहां पर उपलब्ध होने चाहिए उनकी स्वीकृति शासन प्रदान करेगी। उन्होंने दवाइयों की व्यवस्था के संबंध में कहा कि मानकों के अनुरुप सभी दवाइयां अस्पताल में उपलब्ध होनी चाहिए। हर स्तर पर हमें अस्पताल को बेहतर से बेहतर बनाना है। उपमुख्यमंत्री ने जिला संयुक्त चिकित्सालय में मरीजों को दी जा रही अन्य सेवाओं का भी स्थल निरीक्षण करते हुए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर विभिन्न जनकल्याणकारी स्वास्थ्य योजनाएं संचालित की जा रही हैं, जिनका शत् प्रतिशत लाभ स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी गण जरूरतमंदों तक पहुंचाने के लिए निरंतर एक्टिव मोड में रहकर कार्य करें एवं सभी स्वास्थ्य सेवाएं मानकों एवं गुणवत्ता के साथ पात्र लाभार्थियों तक पहुंचाने की कार्रवाई सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि अस्पताल परिसर में औषधियों की उपलब्धता पर्याप्त मात्रा में बनी रहे अस्पताल में आने वाले मरीजों को बाहर से औषधि खरीदने की जरूरत ना पड़े एवं सभी चिकित्सक गण समय से अपने-अपने ड्यूटी पर उपस्थित होकर अस्पताल में आने वाले मरीजों को प्रदेश सरकार की स्वास्थ्य संबंधी सेवाओं का शत् प्रतिशत लाभ पहुंचाने की कार्रवाई सुनिश्चित करें। निरीक्षण के उपरांत उन्होंने बैठक की अध्यक्षता करते हुए अपने उद्बोधन में कहा कि जनपद गौतम बुद्ध नगर उत्तर प्रदेश का शो विंडो कहा जाने वाला जनपद है। हर स्थिति में यहां सभी सुविधाएं उपलब्ध हो एवं जनपद के नागरिकों को आसपास के दूसरे अस्पतालों में जाना न पड़े, इसके लिए शासन द्वारा विशेष प्रयास किए जा रहे हैं। जिला अस्पताल को सेक्टर 39 में शिफ्ट किया गया है एवं सभी सुविधाएं अस्पताल में उपलब्ध होगी। इसके लिए शासन स्तर से विशेष प्रयास किए जा रहे हैं। अस्पताल में सभी जांच हो सके एवं सभी विभागों के चिकित्सक अस्पताल में उपलब्ध हो इस दिशा में तेजी से कार्य किया जा रहा है। मुख्य चिकित्सा अधीक्षक रेनू अग्रवाल द्वारा सेक्टर 39 के अस्पताल को प्रदेश का सबसे बेहतर अस्पताल बनाने का कार्य किया जाएगा। यहां पर सभी मरीजों की निशुल्क जांच, दवाइयां मिलेगी। इसके लिए जो भी संसाधनों की आवश्यकता है शासन द्वारा उपलब्ध कराया जाएगा। यह अस्पताल मॉडल के रूप में पूरे प्रदेश में स्थापित होगा। कोई भी मरीज यहां से निराश होकर नहीं जायेगा एवं शत् प्रतिशत लोगों को नि:शुल्क दवाइयां मिलेगी। उन्होंने कहा कि अस्पतालों मे विशेष व्यवस्था की गई है। सभी दवाइयां अस्पतालों में है एवं रेबीज इंजेक्शन, एंटी वेनम भी पर्याप्त मात्रा में है। फिर भी यदि अचानक किसी दवाई की आवश्यकता पड़ती है, जो हमारी स्टॉक में नहीं है, उसके लिए पहले 20 प्रतिशत धनराशि सभी शेयर्स को दी जाती थी इस बार पूरे प्रदेश में 40 प्रतिशत धनराशि बढाकर शेयर्स को दी गयी है। प्राथमिकता में आने वाले गरीब मरीजों को नि:शुल्क दवाई मिले। पर्याप्त धनराशि आपके पास उपलब्ध है, इसके लिए शासन द्वारा व्यवस्था की गई है। रोगी कल्याण निधि की धनराशि जनता की सुविधा के लिए ससमय खर्च हो जानी चाहिए। सबको मौसम के अनुरुप शुद्ध पेयजल, स्ट्रेचर, व्हील चेयर, एंबुलेंस आदि उपलब्ध हो। चिकित्सकों का ड्यूटी रोस्टर चिकित्सक कक्ष पर चस्पा किया जाए। सभी मरीज महत्वपूर्ण है सभी मरीजों के साथ ऐसा मधुर व्यवहार किया जाये कि सेक्टर 39 के अस्पताल की चर्चा पूरे प्रदेश में हो। उप मुख्यमंत्री जी द्वारा बच्चों के टीकाकरण में जनपद का स्थान अग्रणी होने पर भूरी भूरी प्रशंसा की गई। अभिनव योजना के तहत महिलाएं सरकारी अस्पताल दूर होने पर प्राइवेट अस्पताल में अल्ट्रासाउंड करा सकती है। महिलाएं आशा वर्कर से संपर्क कर बारकोड लेकर प्राइवेट अल्ट्रासाउंड सेंटर पर अल्ट्रासाउंड करा सकती हैं, इसके लिए उन्हें कोई पैसा देय नहीं करना होगा। बारकोड के माध्यम से सरकार के खाते से पैसा चिकित्सक की खाते में चला जाएगा। उन्होंने बताया कि अभी तक 1200 अल्ट्रासाउंड सेंटर पूरे प्रदेश में चिन्हित कर दिये गए हैं। उन्होंने चिकित्सकों, पेरामेडिकल स्टॉफ, नर्सो का आह्वान करते हुए कहा कि हम सब मिलकर एक ऐसा उदाहरण प्रस्तुत करें कि लोग कहें कि उत्तर प्रदेश की चिकित्सा व्यवस्था वर्ल्ड क्लास की है। इस अवसर पर माननीय सांसद डॉ महेश शर्मा, माननीय विधायक नोएडा पंकज सिंह, माननीय जिला अध्यक्ष मनोज गुप्ता जिलाधिकारी गौतम बुद्ध नगर मनीष कुमार वर्मा, मुख्य विकास अधिकारी जनार्दन सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ सुनील शर्मा, जिला पंचायत राज अधिकारी कुंवर सिंह यादव, पुलिस के अधिकारी गण एवं चिकित्सा विभाग के अधिकारीगण उपस्थित रहे।