बारिश के बाद फैल रहा है आंखों में जलन और आई फ्लू

0
59

Noida: दिल्ली-नोएडा में पिछले दिनों बारिश के चलते कई इलाकों में बाढ़ का पानी भर गया है। हालांकि अब पानी धीरे -धीरे निचे उतर रहा है, लेकिन बारिश के चलते यमुना का जलस्तर काफी बढ़ गया था। ऐसे में बाढ़ के पानी और जलभराव के कारण कई तरह की गंभीर बीमारियों का खतरा भी मंडराने लगा है। पिछले कुछ दिनों से आई फ्लू के मामले तेजी से बढ़े हैं। यह बीमारी खासकर बच्चों में तेजी से फैल रही है। इससे बच्चों की आंखों में इंफेक्शन की समस्या पैदा होती है, जिससे आंखों में लालपन, सूजन और गंभीर दर्द बढ़ जाता है।
फेलिक्स अस्पताल के डॉ. उज़ैर ज़कई का कहना है कि बरसात में फंगल इन्फेक्शन समेत हवा में प्रदूषण, वातावरण में नमी जैसी समस्याएं बढ़ जाती हैं। इसकी वजह से मरीजों को आंख से जुड़ी परेशानियां होती हैं। इस मौसम में आंखों का सही ध्यान रखने से मरीज की परेशानियां कम हो सकती हैं। ऐसे लोग जो आंखों में कॉन्टेक्ट लेंस पहनते हैं, उन्हें विशेष सावधानियों का ध्यान रखना चाहिए। आई फ्लू यानी पिंक आई को कंजंक्टिवाइटिस भी कहा जाता है। आई फ्लू या कंजंक्टिवाइटिस आंखों के सफेद हिस्से में होने वाले संक्रमण है। बरसात के मौसम में इस बीमारी का बढऩा बहुत ही आम है। अधिकतर मामले सर्दी-खांसी वाले वायरस की वजह से बढ़ते हैं। इसके अलावा कुछ मामलों में विशेषकर बच्चों में जीवाणु संक्रमण भी इसकी वजह हो सकती है। इसलिए इस मौसम में आंखों से जुड़ी किसी भी तरह की लापरवाही बरतने से बचना चाहिए। आई फ्लू बहुत ज्यादा गंभीर बीमारी नहीं होता है और आंख को कोई स्थायी नुकसान पहुंचाए बिना एक या दो हफ्ते में ठीक भी हो जाता है। यह एक संक्रामक रोग है और इसका मतलब यह है कि यह एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में तेजी से फैल सकता है। ऐसे में इसे रोकने के लिए कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना जरूरी है। पीडि़त व्यक्ति काला चश्मा पहनें टीवी या मोबाइल न देखें। आंखों को बार-बार न छुएं। आंखों की सफाई के लिए गंदे कपड़े का इस्तेमाल न करें। आंखों को छूने के बाद साबुन से हाथ धोएं। किसी से भी आई टू या आई कांटेक्ट न बनाएं। यह संक्रमण एक आंख से शुरू होता है और जल्दी ही दूसरी आंख में भी फैल जाता है। ऐसे में कोई भी लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर को दिखाएं। आंखों को गुनगुने पानी से साफ करें। इसके लिए साफ और सूती कपड़े का इस्तेमाल करें। लक्षण गंभीर होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। आई फ्लू को कंजंक्टिवाइटिस या पिंक आई भी कहा जाता है। यह आंखों के सफेद हिस्से में होने वाले संक्रमण है। बरसात के मौसम में यह बहुत आम है। इसके अधिकतर मामले सर्दी-खांसी वाले वायरस की वजह से बढ़ते हैं। कुछ मामलों में विशेषकर बच्चों में जीवाणु संक्रमण भी इसकी वजह हो सकती है।
लक्षण:=
-आंखों से पानी बहना
-आंखों में सूजन होना
-आंखों का लाल हो जाना
-आंखों में सफेद कीचड़ आना
-आंखों में खुजली और दर्द का होना