Noida News: रेहड़ी पटरी वालों ने नोएडा प्राधिकरण पर प्रदर्शन कर दिया ज्ञापन

0
124

Noida: प्राधिकरण के अधिकारियों/ कर्मचारियों द्वारा नियम कानूनों को ताक पर रखकर मनमानी पूर्ण तरीके से रेहड़ी पटरी दुकानदारों को रोजगार करने से रोकने, उन्हें हटाने/ भगाने, उनका सामान तोडऩे फोडऩे व जप्त करने के विरोध में 12 अक्टूबर 2022 को पथ विक्रेता कर्मकार यूनियन के महामंत्री व सीटू जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा के नेतृत्व में वेंडर्स व उनके प्रतिनिधियों, नोएडा झुग्गी झोपड़ी संयुक्त पुनर्वास के मंच के कार्यकर्ताओं, टीवीसी सदस्यों आदि ने नोएडा प्राधिकरण कार्यालय सेक्टर- 6, पर जोरदार प्रदर्शन कर ज्ञापन दिया। माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार व सीईओ महोदया को सम्बोधित ज्ञापन में जिन वेन्डर्स का अभी तक सत्यापन नहीं हुआ है उनका मौके पर जाकर सर्वे/सत्यापन कर उनके कार्य स्थल के समीप वेन्डिंग जोन बनाकर जगह उपलब्ध कराने तथा जिन वेन्डर्स का सत्यापन हो गया है उनका ड्रा करने, जो वेन्डिंग जोन गलत जगह पर बनाये गये हैं उन्हें वेन्डर्स की सहमति से ऐसी जगह शिफ्ट करने जहां उनका कार्य चल सके। वर्तमान किराया राशि को कम कर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के बराबर राशि तय करने तथा कोविड-19 से प्रभावित वर्ष 2020-2021 का किराया माफ करने, जिन वेन्डर्स का गलत तरीके से बिना नोटिस/सूचना दिये लाईसेंस निरस्त किया गया है उसे बहाल करने, जिन वेन्डर्स ने वेन्डिंग जोन बदलवाने के लिए आवेदन दिया हुआ है, उसका निस्तारण करने, पथ विक्रेताओं के सभी संगठनों एसोसिएशनों/यूनियनों से एक-एक प्रतिनिधि को लेकर नगर पथ विक्रय समिति का स्थायी रूप से गठन करने तथा टी0वी0सी0 कमेटी को सभी अधिकार देने, जिन वेंडर्स की रेहड़ी व समान प्राधिकरण कर्मियों द्वारा जप्त किया गया है उसे निशुल्क वापस करने, जुर्माना राशि 50,000 से घटाकर अधिकतम ?2000 तक करने आदि मांगे की गई है।
मजदूर नेता गंगेश्वर दत शर्मा, नोएडा झुग्गी झोपड़ी संयुक्त पुनर्वास मंच के अध्यक्ष रमाकांत सिंह, कोषाध्यक्ष शहाबुद्दीन, उपाध्यक्ष ब्रह्मपाल सिंह, सचिव उपदेश श्रीवास्तव, टीवीसी सदस्य पूनम देवी, विनोद पंजियार, गणेश कुमार, महेंद्र रावत, अमरजीत राय, रविन्द्र साह, सीटू जिला नेता रामसागर, भीखू प्रसाद, राम स्वारथ, हरी गुप्ता, मंजू राय, लता सिंह आदि ने कहा कि नोएडा प्राधिकरण पथ विक्रेता अधिनियम के तहत व्यवस्थित करने बजाय वेंडर्स के रोजगार पर हमला व उन्हें हटाने/भगाने, उनका सामान तोडऩे-फोडने, सामान व रेहड़ी को जब्त करने की कार्यवाही की जा रही है। जिससेे वेन्डर्स का उत्पीडऩ बढ़ा है और उनके समक्ष जीविका चलाने का संकट उत्पन्न हो रहा है। साथ ही उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि उत्पीडऩ की कार्रवाई नहीं रुकी और हमारी समस्याओं का समाधान नहीं हुआ तो वे नोएडा प्राधिकरण के समक्ष अनिश्चितकालीन आंदोलन शुरू कर देंगे जिसके लिए प्राधिकरण के अधिकारी पूरी तरह से जिम्मेदार होंगे।