भावनाओं की अभिव्यक्ति को उकेरना ही आर्ट है

0
113

Noida: लगभग 30 वर्षो से एम ए सी यानि मेक आर्ट गैलरी ने देश को कई पेंटर दिए जिनके अंदर प्रतिभा थी और उनको कोई मंच नहीं मिल रहा था। कोरोना के बाद एक बड़ी पेंटिंग पर्दशनी का आयोजन किया जिसमे पूरे भारत से 45 कलाकारों को चुना गया और उनकी पेंटिंग की प्रदर्शनी का आयोजन किया गया, जिसमे पेंट, ऑयल और पेन्सिल स्केच शामिल है। गैलरी के चेयरमैन अतुल मारवाह ने कहा नये कलाकार के अंदर टैलेंट भरा हुआ है, जो रंगो से खेलना जानते है हर पेंटिंग में कलर व ब्लैक एन्ड वाइट का बहुत ही खूबसूरती से इस्तेमाल किया गया है और भावनाओ की अभियक्ति को उकेरना ही आर्ट है ।
इस अवसर पर भारत में रवांडा के उच्चायोग रकोज़े प्रोस्टेरा ने कहा की लाइट और रंगों का बेहतरीन सामंजस्य देखने को मिला, मुझे यहां आकर खुशी हुई जो मैं शब्दो में बयां नही कर सकता। ललित भसीन ने कहा मैं हर उस इंसान की इज्जत करता हूँ जो अपने काम को मेहनत व दिल से करते है, यहां आकर नए लोगो का काम देखकर मुझे बहुत खुशी हुई।
मारवाह स्टूडियो के अध्यक्ष प्रो संदीप मारवाह भी इस अवसर पर उपस्थित रहे उन्होंने कहा कोरोना के बाद यह पहली बड़ी आर्ट प्रदर्शनी है जो बेहतरीन है आपके इमोशनल और अध्यात्म जब एक हो जाये और उन सवेदनाओ को जब केनवास पर उतारा जाए वही आर्ट है। इस अवसर पर अर्पिता, अनुपमा भारद्वाज, ज्योती कालरा, रुचिका अग्रवाल, मोनिका सेठ, अंजू हांडा , ममता ग्रोवर, सईदा अंसारी, योग गुरु सतेंद्र नारायण को सर्टिफिकेट देकर सम्मानित किया।