सेरेब्रल पाल्सी से पीडि़त बच्चों को दुत्कार नहीं प्यार की जरूरत: डॉ. डीके गुप्ता

0
78

NOIDA NEWS: आपने भी कई बच्चों को देखा होगा जिनके लिए सामान्य रूप से चलना, शरीर का संतुलन बनाना कठिन होता है। ये सेरेब्रल पाल्सी (सीपी) नाम की समस्या का संकेत हो सकता है जिसमें समय पर उपचार न मिलने से क्वालिटी ऑफ लाइफ में समस्या हो सकती है। लेकिन सेरेब्रल पाल्सी से पीडि़त बच्चों को दुत्कार नहीं प्यार की जरूरत है। फेलिक्स अस्पताल के चैयरमेन डॉ डीके गुप्ता ने बताया कि सेरेब्रल पाल्सी एक प्रकार का मस्तिष्क विकार है, जिसमें मरीज की मांसपेशियां और चलने फिरने की गति प्रभावित हो जाती है। यह एक गंभीर समस्या है, जिससे दुनियाभर में करीब 17 मिलियन लोग इस समस्या से जूझ रहे हैं। दुनियाभर में हर साल 6 अक्टूबर को वल्र्ड सेरेब्रल पाल्सी डे मनाया जाता है। हर साल यह दिवस मनाकर इस बीमारी से पीडि़त बच्चों का हौसला बढ़ाया जाता है। सेरेब्रल पाल्सी एक ऐसी बीमारी या फिर बीमारियों का समूह है, जिसमें मरीज की मांसपेशियों पर उसका कंट्रोल नहीं रहता है। आमतौर पर बच्चों में ये बीमारी अधिक देखी जाती है। ऐसी स्थिति में बच्चा हिलने-डुलने या फिर किसी भी प्रकार की मूवमेंट करने में असमर्थ हो जाता है। यह एक लाइलाज और दुर्लभ तरह की बीमारी है, जिससे मरीज को जिंदगीभर लडऩा पड़ता है। ऐसे में बच्चों को कुछ बोलने या फिर निगलने तक में कठिनाई हो सकती है। सेरेब्रल पाल्सी डे साल 2023 की थीम टुगेदर स्ट्रॉन्गर है। इस थीम के जरिए लोगों की एकता की ताकत, एक दूसरे के आपसी सपोर्ट के साथ ही मिल-जुलकर रहने पर जोर दिया गया है। थीम में बताया गया है कि कैसे सेरेब्रल पाल्सी कम्युनिटी के लोग एक दूसरे की समस्या को समझते हैं। सेरेब्रल पाल्सी डे हर साल 6 अक्टूबर को मनाए जाने के पीछे का मकसद है कि लोग इस गंभीर बीमारी को समझें और इसके मरीजों का हौसला बढ़ाएं। इस बीमारी के प्रति अभी बहुत कम लोग जागरूक हैं। हर साल इस दिवस को मनाकर इससे ग्रसित मरीजों को आत्मनिर्भर बनने के लिए भी प्रेरित किया जाता है। यही नहीं इस साल जगह-जगह कैंप लगाने के साथ ही सेमिनार भी किए जाते हैं, जिससे इसके लक्षणों और बचाव के तरीकों के बारे में लोगों को अवगत कराया जाता है। सेरेब्रल पाल्सी से पीडि़त बच्चे की देखभाल करने के लिए आपको यह ध्यान रखना चाहिए कि यह अन्य शारीरिक असामान्यताओं के विपरीत जीवन भर रहने वाली स्थिति है और समय के साथ इसमें सुधार नहीं होता है। ज्यादातर मामलों में बच्चे की देखभाल के दौरान माता-पिता अपना मानसिक स्वास्थ्य अपने बच्चे की चिंता में खो देते है और कई बार वह अपनी भावनाओं पर नियंत्रण नहीं रख पाते है। ऐसे में आपके और बच्चे दोनों के लिए समस्या बढ़ सकती है इसलिए अपने बच्चे की स्थिति के लिए आपको मानसिक रूप से तैयार होने की जरूरत होती है। सेरेब्रल पाल्सी वाले बच्चे आमतौर पर अपनी मानसिक स्थिति में असमानता का अनुभव करते हैं और आपको उनकी देखभाल के दौरान मोटर क्षमता में सुधार करने पर ध्यान देना चाहिए। ज्यादातर मामलों में बच्चे या तो व्हीलचेयर पर होते हैं या कहीं ले जाने के लिए उनके माता-पिता उनकी मदद करते है। ऐसे में बच्चे को अपने हाथ और पैर की गतिविधियों को बेहतर बनाने के लिए सरल व्यायाम सिखाएं। इससे वह कम से कम बिना किसी मदद के अपनी दैनिक कामों को पूरा कर सकते हैं। इसके लिए आप किसी अच्छे फिजियोथेरेपिस्ट को भी रख सकते हैं और हो सके तो अपने बच्चों को एक-एक करके छोटी-छोटी चीजें सिखाएं। घर पर दैनिक व्यायाम से बच्चे की स्थिति में काफी सुधार आ सकता है और वह एक बेहतर जीवन जी सकते है और अपनी क्षमता से निपट सकते है।