लूटपाट करने वाले चार बदमाश गिरफ्तार

0
92

Noida: थाना सेक्टर 39 पुलिस ने रविवार रात मुठभेड़ के दौरान कार में लिफ्ट देकर सवारियों को बंधक बनाकर उनसे लूटपाट करने वाले 4 अंतरराज्यीय लुटेरों को गिरफ्तार किया है। इनमें से तीन बदमाश पैर में गोली लगने से घायल हो गए। आरोपियों ने रविवार शाम भी एक युवक को लिफ्ट देकर लूटपाट की थी। साथ ही आरोपियों ने उसके परिजनों से एक लाख रुपए खाते में डलवा लिए थे। लुटेरों के कब्जे से पुलिस ने लूटे गए 1 लाख 55 हजार रुपये नकद, 3 तमंचे, 5 कारतूस, 4 मोबाइल व एवं घटना में प्रयुक्त सफेद रंग की सैलैरियो कार बरामद की है।
थाना सेक्टर 39 नोएडा पुलिस ने रविवार रात सेक्टर 44 से सेक्टर 96 नोएडा प्राधिकरण के निर्माणाधीन अन्डरपास के पास कच्ची सडक़ पर बदमाशों के साथ मुठभेड हुई। मुठभेड़ में योगेन्द्र प्रसाद सिंह उर्फ योगी निवासी बी-22-51 एक्सटेंशन भोपुरा थाना साहिबाबाद गाजियाबाद, सोनू उर्फ सुमित निवासी शनि मंदिर चौक भोपुरा थाना साहिबाबाद जिला गाजियाबाद और अभि उर्फ रवि निवासी एसएन-2 दिलशाद गार्डन भोपुरा थाना साहिबाबाद पैर में गोली लगने से घायल हो गए। जबकि चौथे आरोपी अरुण निवासी सेवाराम गुर्जर मार्किट के सामने भोपुरा थाना टीला मोड गाजियाबाद को पुलिस ने कांबिंग के दौरान गिरफ्तार किया गया। घटना के समय आरोपी दिल्ली के बदरपुर निवासी सुधीर को लिफ्ट देकर लूटपाट कर रहे थे। पुलिस ने उसे सकुशल बचा लिया। इनमें जिनके कब्जे से 3 तमंचे, कारतूस व 5 जिन्दा कारतूस, 4 मोबाईल व एवं घटना प्रयुक्त एक कार सैलैरियो रंग सफेद व लूटे गये 1 लाख 55 हजार 500 रूपये बरामद हुए है। आरोपियों ने पुलिस पूछताछ पर बताया कि वह अलग अलग स्थानों से गाड़ी में लिफ्ट देकर सवारियों को बंधक बनाकर उनसे लूटपाट की घटना करते हैं। 15 जनवरी 2023 को सेक्टर 37 नोएडा तथा 16 जनवरी को अमेटी फुटओवर ब्रिज के सामने से अलग अलग लोगों को गाड़ी में लिफ्ट देकर फोन व नगदी छीनकर उनके एटीएम कार्ड व क्रेडिट कार्ड से भी रूपये निकलवाये हैं।
यात्रियों को लिफ्ट देकर थे लूटते: अभियुक्त सेक्टर-37, सेक्टर-44, अमेटी फुट ब्रिज नोएडा ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे, एडवांट व परी चौक के आस-पास यात्रियों को लिफ्ट देकर गाड़ी में बैठा लेते थे। इसके बाद गन पाइंट पर लेकर उनके हाथ बांध कर व चेहरे पर पट्टी बांध कर उनसे एटीएम, क्रेडिट कार्ड व पीडि़त का मोबाईल छीन कर पैसे निकाल लेते थे। साथ ही क्रेडिट कार्ड, पेटीएम बिजनेस आदि पर ऑनलाइन लोन करा लेते थे। इतना ही नहीं एटीएम, क्रेडिट कार्ड से मॉल व शॉपिंग काम्पलेक्स आदि मे शॉपिंग करते थे। प्रत्येक घटना के बाद घटना में प्रयुक्त कार की नंबर प्लेट बदलते रहते थे। आरोपियों द्वारा 15 जनवरी को एक आईटी इंजीनियर को सेक्टर-37 चौराहे के पास से गाड़ी मे लिफ्ट देकर बंधक बनाकर दो बार एटीएम से पैसे निकाले गए। डीएलएफ मॉल व दिल्ली से शॉपिंग कर उक्त प्रकार की घटना को अंजाम दिया गया था। 16 जनवरी को एक आई टी कम्पनी मे काम करने वाले इंजीनियर को अमेटी फुट ब्रिज से लिफ्ट देकर बंधक बनाकर सेक्टर-41 स्थित एटीएम से उक्त प्रकार की घटना को अंजाम दिया गया था।