समलैंगिकता भारतीय संस्कृति पर प्रहार है: अनिल आर्य

0
106

Delhi: रविवार को केंद्रीय आर्य युवक परिषद नई दिल्ली की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक एवं अंतरंग सभा मुख्यालय आर्य समाज कबीर बस्ती पुरानी सब्जी मंडी दिल्ली में सोल्लस संपन्न हुई। बैठक में समलैंगिकता के मुद्दे पर वा ग्रीष्म कालीन चरित्र निर्माण शिविरों की तैयारी पर विचार किया गया।
केंद्रीय आर्य युवक परिषद् के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य ने कहा कि समलैंगिकता भारतीय संस्कृति पर सीधा प्रहार है, सुप्रीम कोर्ट को चाहिए कि इस मुद्दे पर सुनवाई तत्काल बंद करे,उन्होंने कहा कि लड़का लड़के से, लड़की लड़की से विवाह करना प्रकृति के सिद्धांत के विरुद्ध है। गृहस्थ आश्रम की अपनी मर्यादा है जब संतान ही उत्पन्न नहीं होगी तो सामाजिक असमानता बढ़ेगी, मानसिक अवसाद पैदा होगा, तलाक के मुद्दे को नए सिरे से जन्म देगी।संपत्ति का वारिस कौन होगा यह भी प्रश्न खड़ा हो जाएगा। इसके लिए हिंदू धर्म गुरुओं , चिकित्सकों, शिक्षा विदों और वैज्ञानिकों की समिति बना कर राय लेनी चाहिए।अत: समस्त आर्य समाज एवं केंद्रीय आर्य युवक परिषद् सर्वोच्च न्यायालय से अनुरोध करता है कि समलैंगिकता के मुद्दे की सुनवाई तुरंत बंद करे और नए विवादों का जन्म ना होने दे।
केंद्रीय आर्य युवक परिषद के राष्ट्रीय मंत्री प्रवीण आर्य ने बताया कि आगामी ग्रीष्म कालीन अवकाश में 3 जून से 11 जून तक 2023 तक एमिटी इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर 44 नोएडा में डा अशोक कुमार चौहान के सानिध्य में विशाल आर्य युवक चरित्र व व्यक्तिव निर्माण शिविर आयोजित किया जा रहा है। परिषद् के वरिष्ठ मंत्री देवेंद्र भगत ने कहा कि समलैंगिकता एक सामाजिक अपराध है, आर्य समाज इसके विरुद्ध जनजागरण अभियान चलाएगा।
राष्ट्रीय उपाध्यक्ष यशोवीर आर्य ने बताया कि वैदिक तपोवन आश्रम देहरादून में 10 मई से 14 मई 2023 को सैकड़ों लोग भाग लेने हेतु जाएंगे। आर्य गायक नरेश आर्य, सोनिया संजू, राम देव आर्य के मधुर भजन हुए।
इस अवसर पर ओम सपड़ा, नेत्र पाल आर्य, मानवेंद्र शास्त्री, रवि राणा, गोपाल आर्य, धर्म पाल आर्य, यज्ञ वीर चौहान व अशोक जांगड़ आदि ने अपने विचार रखे।