एनजीटी के नियमों को ताक पर रखकर बिना ट्रीटमेंट किए ही नाले में बहा रहे हैं सीवर का पानी: संजीव कुमार

0
96

Noida: आरडब्लूए सेक्टर 51 के महासचिव संजीव कुमार ने सेक्टर 52 मेट्रो स्टेशन के सामने एमएमआर मॉल के गेट के पास नोएडा प्राधिकरण सीवर विभाग द्वारा सीवर के गंदे और दूषित पानी को बड़े नाले में डालने से नोएडा शहर में महामारी फैलने के खतरे को लेकर नोएडा प्राधिकरण की मुख्य कार्यपालक अधिकारी ऋतु महेश्वरी को पत्र लिखकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। श्री सिंह का कहना है कि सेक्टर 51 के अधिकतर सीवर काफी दिनों से बंद होने की शिकायत के चलते आरडब्लूए सेक्टर 51 द्वारा नोएडा प्राधिकरण सीवर विभाग को कंप्लेंट दी गई। जिसके चलते नोएडा प्राधिकरण सीवर विभाग द्वारा एमएमआर मॉल सेक्टर 52 के समीप सीवर लाइन को बड़े नाले में डालना शुरू कर दिया है जो एनजीटी के नियमों के बिल्कुल खिलाफ है। ऐसा करने से पूरे शहर में महामारी फैलने का खतरा अत्यधिक प्रबल हो जाता है। ऐसा करने से शहर में मच्छरों की तादाद में अत्यधिक वृद्धि होने की भी संभावना है। सीवर के गंदे पानी को बिना साफ किए और ट्रीटमेंट किए नाले में बहाने से यह गंदा पानी जमुना नदी में मिलेगा जिससे नदी का पानी के साथ साथ जमीन भी दूषित होगी और हम अपनी पवित्र नदी को गंदा करने के दोषी भी पाए जाएंगे।
उन्होंने मुख्य कार्यपालक अधिकारी से अनुरोध किया है कि सीवर के गंदे और दूषित पानी को कभी भी बड़े नालों में नहीं बहाया जाना चाहिए। यह नियमों के बिल्कुल विरुद्ध है, प्राधिकरण द्वारा ऐसा करने से हमारे शहर की प्रतिष्ठा और छवि धूमिल होती है और शहर के निवासियों के स्वास्थ्य के साथ यह एक बड़ा खिलवाड़ है। जो भी अधिकारी इस तरह का कार्य करवा रहे हैं उनके विरूद्ध तुरंत कार्यवाही होनी चाहिए।