Noida News: छठ व्रतियों ने उगते हुए सूर्य को दिया अर्घ्य, महापर्व का हुआ समापन

0
57

Noida: लोक आस्था और सूर्य उपासना का पर्व छठ सोमवार सुबह उगते हुए सूर्य को अर्घ्य देने के साथ ही संपन्न हो गया। छठ पर्व के चौथे यानि अंतिम दिन सोमवार को 60 हजार से ज्यादा व्रतधारी और उनके साथ आए तीन लाख से अधिक लोगों ने सूर्योदय के दौरान अघ्र्य देकर भगवान भास्कर की पूजा-अर्चना की। इसके बाद व्रती श्रद्धांलुओं ने अपने घर आकर जल-अन्न ग्रहण कर ‘पारणÓ किया और 36 घंटे का निर्जल उपवास समाप्त किया। इसके साथ ही सूर्य देव की उपासना का पर्व छठ सम्पन्न हो गया ।
आपको बता दें कि चार दिन तक चलने वाले इस त्योहार में भगवान सूर्य की आराधना की जाती हैं। 28 अक्टूबर को नहाय खाय के साथ शुरू हुआ ये पर्व सप्तमी को उगते सूर्य को अघ्र्य देने के साथ ही समाप्त हो गया। सोमवार को चौथे यानि अंतिम दिन व्रती बांस की टोकरी, सुप में फल, खजूर आदि लाएं और भगवान भास्कर व छठ मईया को प्रसाद चढ़ाया और जल से भरे कुंड में उतरकर उगते सूर्य को अघ्र्य दिया है। वही उगते सूरज को अघ्र्य देने के साथ यह महापर्व संपन्न हो गया। इस दौरान छठ मइया के भजनो और लोक गीतों की बयार बहती जिससे सारा वातावरण भक्तिमय नजर आ रहा था।
कालिंदी कुंज घाट पर नजर आई सबसे अधिक भीड़: गौतमबुद्ध नगर में बने मुख्य घाटों में सबसे ज्यादा छठ वर्ती महिलाएं और अन्य लोगों की भीड़ कालिंदी कुंज पर नजर आ रही थी। इसके अलावा नोएडा स्टेडियम में भी 30 हजार से ज्यादा लोगों ने सूर्य को अर्घ्य दिया। वही नोएडा के सेक्टर 31 पार्क, सेक्टर 71 और 75 में भी श्रद्धालुओं ने बड़ी संख्या में सूर्य को अर्घ्य देकर छठ पर्व का समापन किया। इसके अलावा दादरी दनकौर जीवन कासना सूरजपुर आदि देहात इलाकों में भी छठ व्रतियों ने उगते सूर्य को अर्घ्य दिया। ग्रेटर नोएडा के सेक्टर 36 में बड़ी संख्या में लोग इका हुए और उगते हुए सूरज को अर्घ्य दिया। ग्रेटर नोएडा वेस्ट में चेरी काउंटी के पास भी कृत्रिम रूप से बनाए गए तालाब में हजारों की संख्या में लोग इका हुए और सूर्य को अघ्र्य देकर छठपर्व का समापन किया।