ग्लोबल साहित्य महोत्सव में साहित्य व्यक्तित्व पर सेमिनार

0
67

NOIDA NEWS: एशियन अकादेमी ऑफ़ आर्ट्स द्वारा आयोजित 9वें ग्लोबल साहित्य महोत्सव नोएडा के दूसरे दिन के सेमिनार का  विषय था साहित्य व्यक्तित्व का किस प्रकार निर्माण करता है। इस विषय पर अपने विचार प्रकट करते हुए एएएफटी यूनिवर्सिटी के चांसलर डॉ. संदीप मारवाह ने कहा की साहित्य हमारी दशा और दिशा को नया नजरिया देता है। इसलिए लिख नहीं सकते तो अच्छा साहित्य पढ़े जरूर। पढ़ नहीं सकते तो सुने जरूर, क्योंकि जो सुना जाता है वो आपके मानसपटल पर घर कर जाता है और दिमाग पर असर करने का मतलब है आपके चरित्र का नवनिर्माण करना। इस सेमिनार में शिरकत की डॉ. पी.के.राजपूत, सहायक निदेशक, राजभाषा विभाग, गृह मंत्रालय, भारत सरकार रघुवीर शर्मा, लेखक आर्यन सिंह, वेनेजुएला के दूतावास के  सांस्कृतिक पार्षद अल्फ्रेडो काल्डेरा, द्वितीय सचिव, रवांडा उच्चायोग एमिल मवेपेसी, डॉ रूचि चावला, डॉ रमा सिंह। इस अवसर पर आर्यन सिंह ने कहा की इस तरह के आयोजन से छात्रो का मानसिक विकास होता है क्यों की आज के युवाओं को समझना होगा की जहां प्यार होता है वहां शांति होती है जहां शांति होती है वह एकता होती है और इस  इस समय विश्व में एकता यानी यूनिटी की आवश्यकता है, आर्यन सिंह ने कहा मैं यहाँ कई बार आ चुका  हूँ और मुझे हर बार यहाँ बहुत कुछ सीखने को मिलता है और आज भी मैं ज्ञान की पोटली लेकर जाऊंगा। रघुवीर शर्मा ने कहा छात्र जीवन बहुमूल्य होता है आप यहां से ज्ञान की झोली भर सकते है और ये संस्थान आपको किसी अच्छे मुकाम पर पहुंचा देगा। अल्फ्रेडो काल्डेरा ने कहा अपने आपको बेहतर नहीं सबसे बेस्ट बनाओ। अंत में संदीप मारवाह ने कहा कि छात्रों की जि़ंदगी में गोरा, काला, अमीर, गरीब , जाति, मजहब नहीं होता उसका धर्म होता है केवल ज्ञान अर्जित करना ज्ञान का भंडार कभी खाली नहीं होता। आज कवि सम्मलेन और मुशायरा का आयोजन किया गया जिसमे कई जानेमाने कवि और शायरो ने शिरकत की।