समान आचार संहिता, जनसंख्या नियंत्रण और जल संरक्षण क़ानून ही रामराज्य का आधार है: जगतगुरु रामभद्राचार्य

0
45

Noida: श्री हनुमान सेवा न्यास और श्रीराम राज फाउंडेशन द्वारा जगतगुरु रामभद्राचार्य द्वारा नोएडा स्टेडियम में संचालित श्री रामकथा का अंतिम दिन शाम 5 बजे से प्रारंभ हुआ। जगतगुरु ने कल घोषणा की थी की कथा के अंतिम दिन श्रीराम जी का राज्याभिषेक होगा और कथा सुनकर पुण्य का भागी बनेंगे।
कथा में आज भाजपा के युवा मोर्चा के अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या का आगमन हुआ और उन्होंने कथा को संबोधित भी किया।
गुरु जी के आगमन पर विधिवत राघव पूजा के पश्चात कथा प्रारंभ हुई। कथा के दौरान गुरु जी ने अगस्त महीने का जि़क्र करते हुए कहा की 9 अगस्त को भारत छोड़ो आंदोलन हुआ, 15 अगस्त को देश आज़ाद हुआ अभी 5 अगस्त को धारा 370 का ख़ात्मा हुआ। इसलिए यह अगस्त एक अगस्त क्रांति का एक नया प्रारूप है। श्री राम कथा में गुरु जी ने बताया कि जब अंगद ने रावण को समझाया कि श्री राम की शरण में आ जाओ वही वास्तविक भगवान है किंतु अहंकारी रावण ने अंगद को अपमानित कर बंधक बनाने का आदेश दे दिया। कथा के अंतिम पड़ाव में भगवान राम के राज्याभिषेक का वर्णन करते हुए जगतगुरु ने कहा की अंतत: भगवान राम राजा बने, माँ सीता रानी बनी और भरत राजकुमार बने। संघर्ष की परिणीती के बाद रामराज की परिकल्पना साकार हुई ।जगतगुरु ने कहा कि देश में समान नागरिक संहिता, जनसंख्या नियंत्रण और जल संरक्षण क़ानून बनना चाहिए तभी रामराज का समावेश होगा
मीडिया प्रभारी अवनीश सिंह ने बताया की जगतगुरु का आदेश हुआ है की अमृत महोत्सव में नोएडा में फिर से राम कथा होगी ।