भगवान जगन्नाथ का 125 तीर्थों के जल से अभिषेक

0
74

NOIDA NEWS: भगवान जगन्नाथ की स्नान यात्रा का आयोजन शनिवार को सेक्टर-33 स्थित इस्कॉन मंदिर में किया गया। इसमें सुबह मंगलआरती के साथ भगवान का श्रृंगार किया गया। इसके बाद 10.30 बजे भगवान का 125 तीर्थों के अभिषेक हुआ।
इस्कॉन मंदिर समिति के मीडिया प्रभारी अरुण सैनी ने बताया कि पवित्र जल से भगवान जगन्नाथ, बलदेव और सुभद्रा का अभिषेक कर स्नान यात्रा उत्सव धूमधाम से मनाया गया। इसमें भगवान पर दूध, दही, घी, फलों के रस से साथ – साथ 125 तीर्थों से लाए गए दिव्य जल से भगवान को स्नान कराया गया। इसमे देश भर की विभिन्न नदियों, सागरों, तीर्थ, गंगा और यमुना का जल सम्मिलित रहा। वहीं मंदिर में बड़ी संख्या में पहुंचे श्रद्धालुओं को भी भगवान जगन्नाथ का अभिषेक करने का अवसर मिला। भक्तों ने निरन्तर मधुर कीर्तन के साथ भगवान के अभिषेक का आनन्द लिया। सभी ने नृत्य किया और भगवान के पवित्र नामों का जप किया। उन्होंने बताया कि अब भगवान 15 दिन तक एकांतवास में रहेंगे। इसके बाद सात जुलाई को भगवान की रथयात्रा निकाली जाएगी।
मंदिर की हुई भव्य सजावट: मंदिर का भव्य रूप प्रदर्शित करने के लिए फूलों से सजावट की गई। भक्तों और मंदिर समिति ने भगवान को अर्पित करने के लिए 56 भोग बनाए। महिलाएं भगवान के लिए मालाएं बनाईं और मंदिरों की सजावट की। श्रद्धालु को भंडारा और प्रसाद वितरण किया गया। सात जुलाई को रथयात्रा के लिए रथ को बनाने और सजाने का कार्य भी शुरू कर दिया गया है।
देश-विदेश से पहुंचे श्रद्धालु: इस्कॉन मंदिर के भगवान के अभिषेक के मौके पर देश-विदेश के दो हजार श्रद्धालुओं ने उत्सव में हिस्सा लिया। इस दौरान मंदिर भगवान जगन्नाथ के जयकारों से गूंज उठा। मीडिया प्रभारी अरुण ने बताया कि रथयात्रा में देश के अलावा अमेरिका, फ्रांस ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, पेरिस एवं मॉरिशस देशों के करीब पांच हजार से अधिक श्रद्धालु शामिल होंगे।