वेद, यज्ञ और योग को अपनाकर ही मानव का सर्वांगीण विकास संभव: लक्ष्मण कुमार गुप्ता

0
92

Ghaziabad: सोमवार को पटेल नगर द्वितीय के निवासियों के आयोजक मण्डल द्वारा ए ब्लॉक के पार्क में आठ दिवसीय चतुर्थ वेद पारायण सप्त कुण्डीय महायज्ञ हर्षोल्लास से संपन्न हुआ।आर्ष गुरुकुल नोएडा के प्राचार्य डा जयेन्द्र आचार्य के ब्रह्मत्व में महायज्ञ की पूर्णाहुति दी गई वेद पाठ आर्ष कन्या गुरुकुल सोरखा एवं आर्ष गुरुकुल नोएडा के ब्रह्मचारिणीयों एवं ब्रह्मचारियों ने किया।
महायज्ञ के ब्रह्मा एवं मुख्य वक्ता डा जयेन्द्र आचार्य ने अपने उद्बोधन में कहा कि इस संसार में लोगों को स्वर्ग की बहुत चिंता है, वह स्वर्ग को खोजते हैं,ढूंढते हैं, काल्पनिक स्वर्ग को पाना चाहते हैं। कोई कहता है स्वर्ग जन्नत में है,कोई कहता है पैराडाइज,सेविन और ऑन में कहता है,लेकिन वैदिक चिंतन यह कहता है स्वर्ग इस धरती पर है,आप अपने घर को कैसे स्वर्ग बना सकते हैं?जीवन को कैसे खूबसूरत और सुखी बना सकते हैं?अपने परिवार को कैसे उन्नति के पथ पर ले जा सकते हैं?जो इन जीवन मूल्यों को जान लेता है,समझ लेता है,समझ लो वह धरती पर स्वर्ग में जीता है।इसको उन्होंने महाभारत के स्वर्गारोहण पर्व के दृष्टांत से समझाया।जिसका निष्कर्ष निकला कि इंसान जीवन में अहंकार को छोड़ कर ही सुखी हो सकता है। दूसरों की बुराई करना ओर जो बुराइयों को छोड़ देता है वह सुखी हो सकता है।
पटेल नगर द्वितीय के आयोजक मण्डल के वरिष्ठ संरक्षक श्री लक्ष्मण गुप्ता ने कहा कि वेद,यज्ञ और योग को अपनाकर ही मानव का सर्वांगीण विकास संभव है, उन्होंने दूर दराज से पूर्णाहुति में लगभग 500 लोगों के पहुंचने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कालोनी वासियों,आयोजक मण्डल के पदाधिकारियों एवं प्रभु प्रेमियों का हृदय की गहराइयों से धन्यवाद ज्ञापित किया।
केन्द्रीय आर्य युवक परिषद् के राष्ट्रीय मंत्री योगी प्रवीण आर्य ने कहा कि इस तरह के यज्ञीय भावना से ओतप्रोत कार्य निरन्तर होते रहने चाहिएं तभी पर्यावण संतुलित रहेगा और लोग रोगमुक्त हो सकेंगे।आठ दिन तक चारों वेदों ऋग्वेद,यजुर्वेद,सामवेद एवं अथर्ववेद के 20416 मंत्रों से आहुतियां दी गई,बीच बीच में चुनिंदा मंत्रों के अर्थों से भी याजकों को आचार्य जी ने अवगत कराया गया जिसे सुनकर श्रोता भावविभोर हो गए।आठों दिन दोनों समय भोजन की सुन्दर व्यवस्था रही,इसके लिए आयोजकों की भूरि भूरि प्रशंसा की।
इस अवसर पर मुख्य रूप से सर्वश्री संजीव कुमार गर्ग,ललित गोयल, पीयुष गर्ग,केपी त्यागी, कुलभूषण त्यागी, मीतू जैन,पूजा पाहवा, राजेन्द्र गजवानी,वेद प्रकाश, अजय नागर,सुशील मित्तल, मनमोहन वोहरा,दयानन्द शर्मा,आशा आर्या,सुमन राजपूत, वीके धामा,नवीन चन्द गुप्ता, मनमोहन गुप्ता,संदीप गोयल, सुशील गोयल,प्रो संजीव गोयल, मनीष गुप्ता,वैभव गुप्ता, विशाल गुप्ता एवं बृजेश जी आदि मौजूद रहे।