Gujarat Assembly Election: केजरीवाल ने किया ऐलान, गुजरात में ईसूदान गढ़वी होंगे आम आदमी पार्टी के CM उम्मीदवार

0
189

अहमदाबाद। गुजरात में आम आदमी पार्टी ने अपने मुख्यमंत्री कैंडिडेट के नाम की घोषणा कर दी है। केजरीवाल ने ऐलान किया कि ईसूदान गढ़वी गुजरात में आम आदमी पार्टी के सीएम उम्मीदवार होंगे। गौरतलब है, गुजरात में 1 व 5 दिसंबर को दो चरणों में मतदान होगा और 8 दिसंबर को मतगणना होगी।
अरविंद केजरीवाल ने 29 अक्टूबर को सूरत में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर लोगों से पूछा था कि वो किसे सीएम पद पर देखना चाहते हैं। उन्होंने जनता की राय जानने के लिए एक नंबर भी जारी किया था, जिस पर कॉल और वाट्सएप के जरिए लोग 3 नवंबर यानी गुरुवार की शाम तक अपनी राय दे सकते थे।
गुजरात में आम आदमी पार्टी के सीएम पद के चेहरे के लिए पाटीदार नेता गोपाल इटालिया, अल्पेश कथेरिया, कांग्रेस छोड़कर आम आदमी पार्टी में शामिल हुए इंद्रनील राज्य गुरु, मनोज सुरथिया का नाम चल रहा था, लेकिन अरविंद केजरीवाल ने जनता द्वारा मांगी गई राय के आधार पर पूर्व पत्रकार ईसूदान गढ़वी के नाम की घोषणा कर दी है।

AAP के नेशनल जॉइंट सेक्रेटरी हैं गढ़वी
ईसूदान गढ़वी अभी आम आदमी पार्टी के नेशनल जॉइंट जनरल सेक्रेटरी हैं। राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने बताया कि गुजरात की 16 लाख 48 हजार 500 जनता ने अपनी राय दी है। गुजरात की 16 लाख से ज्यादा लोगों की राय के आधार पर उन्होंने फैसला लिया है। यहां की जनता ने ईसूदान गढ़वी को चुना है। इसलिए हमारी पार्टी का सीएम फेस वही होंगे। उन्होंने कहा कि गुजरात बदलाव की तरफ बढ़ रहा है। AAP नया इंजन, नई उम्मीद है।
जानिए कौन हैं ईसूदान गढ़वी?
गुजरात में आप आदमी पार्टी (आप) के सीएम फेस बने ईसूदान गढ़वी (Isudan Gadhvi) पहले पत्रकार थे। गुजरात के देवभूमि द्वारका जिले के पिपलिया में जन्में इसुदान गढ़वी ने अपनी शुरुआती पढ़ाई जाम खंभालिया (Khambhaliya) में पूरी की। कॉमर्स में ग्रेजुएशन करने के बाद उन्होंने 2005 में गुजरात विद्यापीठ से जर्नलिज्म की पढ़ाई की। इसके बाद दूरदर्शन से जुड़ गए और वहां पर एक शो करने लगे। इसके बाद इसुदान ने पोरबंदर की एक स्थानीय चैनल में बतौर रिपोर्टर काम किया।
2015 में गढ़वी अहमदाबाद आए और एक प्रमुख गुजराती चैनल (वी-टीवी) के एडीटर बन गए। जब इसुदान इस चैनल के एडीटर बने तो उनकी उम्र महज 32 साल थी। इसुदान ने ‘महामंथन’ नाम से एक शो की शुरुआत की। जिसमें वह एंकर की भूमिका में होते थे। इस शो में इसुदान ने आम लोगों और किसानों पर फोकस करना शुरू कर दिया। गढ़वी ने पत्रकार रहते हुए वापी, पोरबंदर, जामनगर, अहमदाबाद और गांधीनगर में काम किया।
16 महीने पहले आप से जुड़े
पिछले साल जब आदमी पार्टी ने गुजरात में संगठन विस्तार की कवायद शुरू की तो ईसूदान (Isudan Gadhvi) पत्रकारिता को छोड़कर राजनीति में आ गए। ईसूदान गढ़वी (Isudan Gadhvi) ने जून 2021 की शुरुआत में इस्तीफा दे दिया और कहा कि वे पत्रकारिता छोड़कर जनता के लिए काम करेंगे। इसके बाद उनके राजनीति में आने की अटकलें शुरू हो गईं। इसूदान गढ़वी ने फेसबुक पर लाइव जाकर कयासों का जवाब दिया, लेकिन यह नहीं बताया कि वे किसी पार्टी में शामिल होंगे या फिर नहीं। जून महीने में ही जब अरविंद केजरीवाल गुजरात पहुंचे तो इसूदान आम आदमी पार्टी में शामिल हो गए।
आप से जुड़ने के बाद इसूदान ने कहा कि वह सालों से लोगों के सवाल उठाते रहे हैं, लेकिन एक पत्रकार की लक्ष्मण रेखा होती है। एक पत्रकार के रूप में आप लोगों के मुद्दों को उठा सकते हैं लेकिन संविधान के अनुसार, निर्णय लेने की शक्ति निर्वाचित राजनेताओं के पास है। लोगों के कल्याण की शक्ति नेताओं या अधिकारियों के पास है।