मुख्यमंत्री ने जनपदवासियों को दी 1670 करोड़ रूपये की सौगात

0
81

Greater Noida: उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को जनपद भ्रमण के दौरान जनपद के चारों विकास प्राधिकरण द्वारा बनाए गए 1670 करोड़ रूपये की परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास करते हुये जनपदवासियों को सौगात प्रदान की। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि भारत की लोकतांत्रिक व्यवस्था में प्रत्येक समाज के अंतिम छोर में खड़े व्यक्ति तक केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ पात्र लाभार्थियों तक उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा पहुंचाया जा रहा हैं। उन्होंने कहा कि अब से पहले के समय में जनपद गौतमबुद्धनगर माफियाओं से घिरा हुआ रहता था एवं पूरे जनपद पर माफिया राज हावी हुआ करता था तथा जनपद के किसानों की स्थिति भी हाल बेहाल थी, लेकिन वर्तमान समय में भारत के माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा किसानों की आय दोगुनी करने एवं किसानों का आर्थिक विकास संभव हो सके, इसके लिए केंद्र एवं राज्य सरकार के द्वारा विभिन्न योजनाएं संचालित की जा रही हैं। उन्होंने यह भी कहा कि जनपद गौतम बुद्ध नगर में औद्योगिक इकाइयां लगातार पलायन की ओर जा रही थी, किन्तु वर्तमान समय में जनपद गौतम बुद्ध नगर का माहौल उद्योग की दृष्टि से इस प्रकार तैयार हो चुका है कि यहां पर जो उद्यमी पलायन करने के लिए अपना मन बना चुके थे वह अब यहीं रह कर अपने उद्योगों को बढ़ाना चाह रहे हैं साथ ही साथ जनपद गौतम बुद्ध नगर में देश एवं विदेश से भी निवेशक आकर अपने अपने उद्यमों की स्थापना कर रहे हैं। जिस कारण से उत्तर प्रदेश का शो विंडो कहा जाने वाला जनपद गौतम बुद्ध नगर की तस्वीर और तकदीर दोनों बदल चुकी हैं। उन्होंने कहा कि जनपद की नोएडा, ग्रेटर नोएडा एवं यमुना विकास प्राधिकरण की सहभागिता से उत्तर प्रदेश में डिजिटल इंडिया इंडिया का मूर्त रुप देखने को मिलता है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत के प्रधानमंत्री ने जब से 5जी नेटवर्क की शुरुआत की है, तब से लोगों की जीवन शैली की तस्वीर बदल चुकी है और जनपद गौतम बुद्ध नगर एक नये आईटी हब के रूप में विकसित हो रहा है, जोकि उत्तर प्रदेश की तकदीर एवं तस्वीर को प्रस्तुत करता है। उन्होंने कहा कि पहले के समय में जनपद गौतम बुद्ध नगर का जेवर क्षेत्र अपराध के गढ़ के रूप में जाना जाता था लेकिन वर्तमान समय में अपराधियों पर कार्रवाई करते हुए दृढ़ इच्छाशक्ति से जेवर क्षेत्र को अपराध मुक्त कर दिया गया है। इस जीता जागता उदाहरण है गंगाजल परियोजना है, जोकि विगत 12 वर्षो से माफिया राज के चलते पूर्ण नही हो पा रही थी, जिसे पुलिस आयुक्त एवं प्राधिकरण की संयुक्त कार्यवाही से आज इस परियोजना को मूर्त रूप प्रदान हुआ है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार युवाओं के उज्जवल भविष्य की ओर कार्य करते हुए युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध करा रही है। उन्होंने कहा कि आज जो गंगा जल परियोजनाओं का लोकार्पण किया जा रहा है, इस परियोजना के माध्यम से मां गंगा का पवित्र एवं निर्मल जल घर घर पहुंचाया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने जिन परियोजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण किया है उसमें ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की 85 क्यूसेक गंगाजल परियोजना लागत 848 करोड रूपये, स्मार्ट एलईडी परियोजना लागत 48 करोड़, नोएडा प्राधिकरण की परियोजनाएं सिटी बस टर्मिनल परियोजना लागत 157.84 करोड़, आईएसटीएमएस परियोजना लागत 68.42 करोड़, कोंडली अंडरपास परियोजना लागत 46 करोड़, बहलोलपुर अंडरपास परियोजना लागत 30.29 करोड़, शिवालिक एवं चिल्ड्रन पार्क परियोजना लागत 8.65 करोड़, बिसरख रोड परियोजना लागत 32.35 करोड़, एसटीपी सेक्टर 168 परियोजना लागत 162.67 करोड़, एसटीपी सेक्टर 123 परियोजना लागत 131.11 करोड़, सेक्टर 67 में 132/33 केवी बिजली घर परियोजना लागत 66.18 करोड़, यीडा की परियोजनाओं में 60 एमएलडी एसटीपी का निर्माण परियोजना लागत 66.99 करोड़ तथा यूपीसीडा की परियोजनाओं में कासना में फ्लैटेड फैक्ट्री के उच्चीकरण कार्यों की लागत 1.75 करोड़ की परियोजनाएं सम्मिलित हैं।
कार्यक्रम में सांसद डॉ महेश शर्मा, राज्यसभा सांसद सुरेन्द्र नागर, विधायक पंकज सिंह, तेजपाल नागर, धीरेन्द्र सिंह ने अपने उद्धगार व्यक्त करते हुये मुख्यमंत्री के करकमलों द्वारा जनपदवासियों को 1670 करोड़ रूपये की परियोजनाओं की सौगात देने के लिए हदय से धन्यवाद एवं आभार प्रकट किया।
इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री नंदगोपाल गुप्ता नंदी, राज्यमंत्री औद्योगिक विकास जसवंत सैनी, विधान परिषद सदस्य नरेन्द्र भाटी, श्रीचन्द शर्मा, पुलिस आयुक्त आलोक सिंह, मण्डलायुक्त मेरठ मंडल मेरठ सेल्वा कुमारी जे0, प्रभारी जिलाधिकारी एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी नोएडा/ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण ऋतु माहेश्वरी तथा शासन के वरिष्ठ अधिकारीण, पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारीगण उपस्थित रहें।