फ्लिपकार्ट के लिफाफे में गांजा और चरस रखकर तस्करी करने वाले गैंग का पर्दाफाश, चार गिरफ्तार

0
120

Noida Noida: थाना बीटा 2 पुलिस ने ऑनलाइन सामान डिलीवरी करने वाली फ्लिपकार्ट के लिफाफे में गांजा और चरस रखकर तस्करी करने वाले गैंग का पर्दाफाश किया है। पुलिस ने गैंग के चार लोगों को गिरफ्तार किया है। जिसमें एक युवती भी शामिल है। चारों आरोपी बीबीए के छात्र हैं। पकड़े गए आरोपी ग्रेटर नोएडा में स्थित कॉलेज में पढऩे वाले बच्चों को गांजा और चरस की सप्लाई करते है। पुलिस ने इनके कब्जे से 20 किलो 300 ग्राम गांजा और 400 ग्राम चरस बरामद की है। इसके अलावा घटना में शामिल एक वर्ना कार, स्प्लेंडर मोटरसाइकिल और इलेक्ट्रिक तराजू भी बरामद किया है। पुलिस ने इसके अलावा 148 फ्लिपकार्ट कंपनी के लिफाफे, 38 पैकिंग लिफाफा, तीन पॉलिथीन के पैकेट और चार मोबाइल फोन भी बरामद किए हैं।
ग्रेटर नोएडा के एडीसीपी अशोक कुमार ने बताया कि पुलिस ने चिंटु ठाकुर निवासी बुलंदशहर, बिट्टू उर्फ कालू निवासी बुलंदशहर, जयप्रकाश निवासी बलिया और एक महिला आरोपी वर्षा निवासी ग्रेटर नोएडा ओमिक्रोन-3 को गिरफ्तार किया है। इन आरोपियों के खिलाफ पहले भी मुकदमे दर्ज है। सभी आरोपी काफी शातिर किस्म के हैं। एडीसीपी ने बताया कि रिंकू उर्फ सेठ भारी मात्रा में शिलांग से गांजा और चरस लेकर आता है। उसके बाद चिंटू और पिंटू के माध्यम से डिस्ट्रीब्यूशन करवाता है। चिंटू और बिंटू दोनों सगे भाई हैं। ये दोनों सगे भाई वर्षा और जयप्रकाश से गांजा ग्राहकों तक पहुंचाते हैं। ग्राहक व्हाट्सएप के माध्यम से चिंटू और पिंटू से संपर्क करते हैं। कॉन्फ्रेंस कॉलिंग के जरिए दोनों भाई वर्षा और जयप्रकाश को लोकेशन बताते हैं। उसके बाद उस लोकेशन पर माल सप्लाई किया जाता है।
रोजाना 4-5 हजार रुपए की कमाई: पता चला है कि पहले इस काम के लिए वर्ष और जयप्रकाश को सैलरी मिलती थी, लेकिन अब 100 रुपए प्रति पुडिय़ा के हिसाब से पैसे मिलते हैं। एक दिन में वर्षा और जयप्रकाश 40-50 पुडिय़ा की सप्लाई करते हैं। जिसमें 10 ग्राम से लेकर 50 ग्राम तक वजन होता है। इसके लिए वर्षा और जयप्रकाश अपने साथ एक इलेक्ट्रिक तराजू भी रखते हैं। ग्राहक के कहने पर तुरंत गांजा तोल कर दे देते हैं।
नोएडा से खरीदे फ्लिपकार्ट के लिफाफे: चिंटू और पिंटू को डर था कि वह पुलिस की गिरफ्त में ना आ जाए। इसके लिए उन्होंने नोएडा के सेक्टर-9 में स्थित एक दुकान से फ्लिपकार्ट के लिफाफे खरीदे। उसके बाद गांजे और चरस को फ्लिपकार्ट के लिफाफे में रखकर एनसीआर में सप्लाई करने लगे। यह लोग सेक्टरों, कंपनी और यूनिवर्सिटी में व्हाट्सएप के माध्यम से सप्लाई करते हैं। इनका गैंग एनसीआर के काफी इलाकों में गांजे के सप्लाई करता है। पेमेंट ऑनलाइन बिंटू के बैंक खाते में जाती है। पुलिस ने ग्रेटर नोएडा में स्थित नवादा गोल चक्कर के पास से इन चारों आरोपियों को गिरफ्तार किया।