विद्युत कर्मियों के कार्य बहिष्कार एवं सांकेतिक हड़ताल को लेकर जिलाधिकारी ने की महत्वपूर्ण बैठक

0
80

Greater Noida: जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा ने बुधवार को जनपद में विद्युत कर्मियों का 15 मार्च को कार्य बहिष्कार एवं 17 मार्च से 72 घंटे की सांकेतिक हड़ताल को दृष्टिगत रखते हुए आवश्यक व्यवस्था एवं तैयारियों की विद्युत विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा करते हुए कहा कि जनपद गौतम बुद्ध नगर ुऔद्योगिक दृष्टि से बहुत ही महत्वपूर्ण जनपद है इसीलिए विद्युत कर्मियों के कार्य बहिष्कार एवं सांकेतिक हड़ताल के दौरान विद्युत आपूर्ति प्रभावित न हो विद्युत विभाग के अधिकारियों के द्वारा समय रहते अपनी सभी समुचित व्यवस्थाएं संबंधित विभागीय अधिकारियों के साथ समन्वय स्थापित करते हुए सुनिश्चित कर ली जाए, ताकि जनपद में विद्युत आपूर्ति अनवरत रूप से संचालित रहे। जिलाधिकारी ने महत्वपूर्ण बैठक की समीक्षा करते हुए विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि जनपद गौतम बुद्ध नगर के संवेदनशील विद्युत उपकेंद्र पर सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुलिस विभाग के अधिकारियों के साथ समन्वय स्थापित करते हुए पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगवा ली जाए साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि संवेदनशील विद्युत उपकेंद्र पर अतिरिक्त विद्युत कर्मियों की समुचित व्यवस्था भी सुनिश्चित रखी जाए ताकि आवश्यकता पडऩे पर उनका सहयोग लिया जा सके। जिलाधिकारी ने विद्युत विभाग के अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए कि जिन आउटसोर्सिंग कंपनियों के विद्युत कर्मी आउटसोर्सिंग पर कार्य कर रहे हैं उन कंपनियों के निदेशको के साथ वार्ता करते हुए सभी आउटसोर्स कर्मियों की सूची प्राप्त करते हुए, आउटसोर्सिंग कर्मियों के लीडरों को चिन्हित कर लिया जाए और उन पर विशेष ध्यान रखा जाए तथा आउटसोर्सिंग कंपनियों के निदेशकों से वार्ता करते हुए सुनिश्चित कर लिया जाए कि सांकेतिक हड़ताल के दौरान वह जनपद में ही प्रवास करें, ताकि जनपद की विद्युत आपूर्ति सांकेतिक हड़ताल के दौरान प्रभावित न हो।जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए कि जनपद में एक कंट्रोल रूम स्थापना करते हुए उसमें नोडल अधिकारी नामित किया जाए और कंट्रोल रूम में भी विद्युत कर्मियों को तैनात कर दिया जाए ताकि जरूरत पडऩे पर उनसे कार्य लिया जा सके। जिलाधिकारी ने बैठक के दौरान पुलिस विभाग के अधिकारियों का आह्वान करते हुए कहा कि उनके द्वारा भी विद्युत विभाग के अधिकारियों के साथ समन्वय स्थापित करते हुए जनपद के संवेदनशील विद्युत उपकेंद्र पर सुरक्षा व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए पुलिसकर्मियों को तैनात कर दिया जाए एवं अन्य सभी व्यवस्थाएं भी सुनिश्चित कर ली जाए एवं जिन संविदा विद्युत कर्मियों के द्वारा हड़ताल में भाग नहीं लिया जा रहा उनकी सुरक्षा व्यवस्था पर विशेष ध्यान रखा जाए। जिलाधिकारी ने बैठक की समीक्षा करते हुए राजकीय आईटीआई के प्रधानाचार्य, राजकीय पॉलिटेक्निक के प्रधानाचार्य को निर्देश देते हुए कहा कि उनके द्वारा संस्थानों में पढऩे वाले छात्रों का भी सूचीकरण करते हुए उपलब्ध करा दिया जाए ताकि आवश्यकता पडऩे पर उनका सहयोग लिया जा सके। इसी प्रकार जिला सेवायोजन अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि उनके द्वारा भी ऐसे युवकों को चिन्हित कर सूचीकरण कर लिया जाए जो विद्युत कार्य से संबंधित जानकारी रखते हैं। जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए कि उनके द्वारा विद्युत संघ के पदाधिकारियों के साथ निरंतर संवाद किया जाए, ताकि जनपद में हड़ताल के दौरान विद्युत आपूर्ति पर कोई प्रभाव न पड़े। उन्होंने विद्युत विभाग के अधिकारों को यह भी निर्देश दिए कि उनके द्वारा जनपद के संवेदनशील प्रतिष्ठानों जैसे अस्पताल, मेडिकल कॉलेज, मेट्रो आदि में सांकेतिक हड़ताल के दौरान विद्युत आपूर्ति प्रभावित ने हो इस प्रकार वहां की सुरक्षा एवं आवश्यक समुचित व्यवस्थाएं सुनिश्चित कर ली जाएं। इस महत्वपूर्ण बैठक में डीसीपी सेंट्रल राम बदन सिंह, मुख्य विकास अधिकारी तेज प्रताप मिश्र, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व वंदिता श्रीवास्तव, नगर मजिस्ट्रेट नोएडा धर्मेंद्र सिंह, विद्युत विभाग से मुख्य अभियंता राजीव मोहन, जिला सेवायोजन अधिकारी संग प्रिय आनंद, आईटीआई व पॉलिटेक्निक के प्रधानाचार्य तथा विद्युत विभाग व एनपीसीएल के अधिकारीगण उपस्थित रहे।