नकली कफ सिरप बनाने वाली कंपनी के तीन कर्मचारी गिरफ्तार

0
79

Noida: भारत में निर्मित कफ सिरप से उज्बेकिस्तान में हुई 18 बच्चों की मौत की जिम्मेदार बतायी जा रही नोएडा की कंपनी का मालिक व मालकिन फरार हैं। गाजियाबाद के ड्रग इंस्पेक्टर की शिकायत पर थाना फेस 3 पुलिस ने कफ सिरप बनाने वाली कंपनी के आपरेशन हेड समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है।
बता दें कि वर्ष 2020 में उक्त कंपनी द्वारा बनाए गए कफ सिरप पीने से उज्बेकिस्तान में 18 बच्चों की मौत हो गई थी। इस मामले में भारत सरकार से लेकर उत्तर प्रदेश सरकार ने जांच की और कंपनी में बन रही कफ सिरप के सेंपल लिए। गाजियाबाद के ड्रग्स इंस्पेक्टर आशीष ने इस मामले में थाना फेस 3 में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। जिसमें कहा गया है कि सेक्टर 67 के बी-48 में स्थित मैसर्स मैरियम बायोटेक प्राइवेट लिमिटेड द्वारा बनाया गया कफ सिरप मानकों के उपर खरा नहीं उतरा। थाना फेस-3 नोएडा पुलिस ने इस मामले में कंपनी के मैन्यूफैक्चरिंग केमिस्ट अतुल रावत पुत्र स्व. भूपेन्द्र कुमार रावत निवासी फ्लैट नं.-801, टावर एसटर एस के ए, ग्रीन आर्च, सेक्टर-16 बी थाना बिसरख, ग्रेटर नोएडा वर्तमान पता बी 48,49 सेक्टर-67, थाना फेस-3, गौतमबुद्धनगर, कंपनी के आपरेशन हेड तुहिन भट्टाचार्य पुत्र तुलसी माधव भट्टाचार्य निवासी पोस्ट बोसी घाट सार आर्यन रोड जिला 24 उत्तर परगना वेस्ट बंगाल वर्तमान पता पी-1804, पैनोसिस, सेक्ट-70, नोएडा व मूल सिंह पुत्र स्व. कुवर पाल सिंह निवासी सी 201, सेक्टर-23, संजय नगर, थाना कविनगर, गाजियाबाद वर्तमान पता बी 48,49 सेक्टर-67 नोएडा को कम्पनी मैसर्स मैरियम बायोटेक प्राइवेट लिमिटेड बी-48, सेक्टर-67 से गिरफ्तार किया गया है। इनके खिलाफ थाना फेस-3 पर औषधि और प्रसाधन सामग्री अधिनियम 1940 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। कंपनी की डायरेक्टर जया जैन व सचिन जैन अभी फरार हैं। पुलिस इनकी भी तलाश कर रही है।
ये है पूरा मामला: मालूम हो कि वर्ष 2020 के दिसंबर माह में उक्त कंपनी द्वारा बनाई गई सिरप पीने से उज्बेकिस्तान के 18 बच्चों की मौत हो गई थी। उज्बेकिस्तान सरकार की सूचना के आधार पर भारत सरकार ने इस मामले को गंभीरता से लिया और कंपनी पर छापेमारी की गई। कंपनी से दवाओं के सैंपल लिए गए थे। जांच के दवाओ का सैंपल फेल हो गया। रिपोर्ट के मुताबिक दवा कंपनी मैरियन बायोटेक द्वारा निर्मित सिरप ‘डॉक-1 मैक्सÓ लगभग 18 बच्चों की मौत के लिए जिम्मेदार था।