एमबीबीएस में दाखिला कराने के नाम पर ठगी करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह के दो ठग गिरफ्तार

0
79

Noida: थाना सेक्टर 126 पुलिस ने एमबीबीएस में दाखिला कराने के नाम पर छात्रों से ठगी करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह के दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से फर्जी हस्ताक्षर, रेंट एग्रीमैंट, 8 आधार कार्ड, 9 नए सिम कार्ड, 4 चैक बुक, 1 डैबिट कार्ड और एक मोबाइल फोन बरामद हुआ है।


डीसीपी हरीश चंदर ने बताया कि आरोपियों की पहचान दीपक उफऱ् छदम और राजेश कुमार आहुजा के रूप में हुई है। ये बिहार के मुजफ्फरपुर और उत्तर प्रदेश के बांदा जिले के रहने वाले हैं। आरोपी नोएडा के सेक्टर 125 में ट्रुथ एडवाइजर करियर कंसल्टेंसी फर्जी संस्था चलाकर छात्रों से धोखाधड़ी करते थे। आरोपी नीट की परीक्षा में असफल विधार्थियों की डिटेल निकालकर उनसे सम्पर्क कर उन्हें अपने ऑफिस में बुलाकर उनकी काउंसलिंग करते थे। फिर किसी एमबीबीएस कॉलेज में एडमिशन दिलाने का आश्वासन देकर ठगी की वारदात को अंजाम देते हैं।
दाखिला कराने के नाम पर ठगते थे 30 से 35 लाख: डीसीपी ने बताया कि यह गिरोह अपने राज्य के कॉलेज में एडमिशन के नाम पर 30-35 लाख रुपये और अन्य राज्य में एडमिशन के नाम पर 20-25 लाख रुपये वसूलते थे। गैंग के पास से कुल 13 बैंकों के खातों का पता चला है। इस खातों से पुलिस ने कुल दो लाख 80 हजार रुपए जब्त किये हैं। गैंग 3-4 वर्षों से इस तरह की घटनायें कर रहा है और यह एक स्थान पर लगभग 1-2 महीने काम करता है। लोगों को अपना शिकार बनाने के बाद यह वहां से फरार हो जाते हैं।
आरोपी देश के कई शहरों में कर चुके हैं ठगी: डीसीपी ने बताया कि आरोपियों के मालवीय नगर ,कानपुर, लखनऊ, नोएडा आदि शहरों में ऑफिस रहने का पता चला है। अभी तक इनके द्वारा की गयी घटनाओं से एक ही पीडि़त का पता चला है। इसके अलावा इन्होने गुजरात, लखनऊ, राजस्थान, कानपुर आदि शहरों के नीट परीक्षा में असफल छात्रों से एडमिशन के नाम पर ठगी की है। गैंग अपने ऑफिस में रिशेपसन पर 15 दिन या 1 माह से ज्यादा किसी कर्मचारी को नहीं रखते थे और कुछ की सैलरी दिये बिना ही ऑफिस खाली कर गायब हो जाते थे। पुलिस द्वारा अब इस पूरे गैंग के मास्टरमाइंड तक पहुंचने का प्रयास किया जा रहा है।